Type Here to Get Search Results !

Ads

देश भक्ति कविताएँ Desh Bhakti Patriotic Poems in Hindi

देश-भक्ति कविताएँ,
Desh Bhakti/Patriotic Poems in Hindi

desh-bhakti-patriotic-poems-in-hindi

Hindi Kavita on Desh Bhakti : स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस (Independence day and Republic day) पर देश भक्ति पर आधारित हिंदी कविता व गीत आप के पसंददीदा कवि की कविता व बॉलीवुड फिल्मो से ले कर आये है, उम्मीद है आपको अवश्य पसंद आएगी। Desh Bhakti Hindi Kavita/Songs  पढ़ कर आपको भारत के प्रति देश प्रेम, भारतीय सैनिको के प्रति सम्मान की भावना मन मे आती है कैसे उन्होंने अपने प्राणों की आहुति देकर देश को सुरक्षित व देश का गौरव बनाये रखा। राष्ट्र को समर्पित कविता ।

राम प्रसाद बिस्मिल की देश भक्ति कविताएँ | Ram Prasad Bismil Desh bhakti kavita

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है -राम प्रसाद बिस्मिल

जिन्दगी का राज-चर्चा अपने क़त्ल का -राम प्रसाद बिस्मिल

मिट गया जब मिटने वाला (अन्तिम रचना) -राम प्रसाद बिस्मिल

मुखम्मस-हैफ़ हम जिसपे कि तैयार थे मर जाने को -राम प्रसाद बिस्मिल

खटमल और बेचारी जूं -राम प्रसाद बिस्मिल

न चाहूँ मान दुनिया में, न चाहूँ स्वर्ग को जाना -राम प्रसाद बिस्मिल

हे मातृभूमि ! तेरे चरणों में सिर नवाऊँ -राम प्रसाद बिस्मिल

अरूज़े कामयाबी पर कभी तो हिन्दुस्तां होगा -राम प्रसाद बिस्मिल

भारत जननि तेरी जय हो विजय हो -राम प्रसाद बिस्मिल

ऐ मातृभूमि तेरी जय हो, सदा विजय हो -राम प्रसाद बिस्मिल

बला से हमको लटकाए अगर सरकार फांसी से-तराना -राम प्रसाद बिस्मिल

देश की ख़ातिर मेरी दुनिया में यह ताबीर हो -राम प्रसाद बिस्मिल

दुनिया से गुलामी का मैं नाम मिटा दूंगा -राम प्रसाद बिस्मिल

आज़ादी-इलाही ख़ैर ! वो हरदम नई बेदाद करते हैं -राम प्रसाद बिस्मिल

देश हित पैदा हुये हैं देश पर मर जायेंगे -राम प्रसाद बिस्मिल

महादेवी वर्मा की देश भक्ति कविताएँ | Mahadevi Verma Desh bhakti kavita

क्रांति गीत -महादेवी वर्मा

देशगीत : अनुरागमयी वरदानमयी -महादेवी वर्मा

देशगीत : मस्तक देकर आज खरीदेंगे हम ज्वाला -महादेवी वर्मा

ध्वज गीत: विजयनी तेरी पताका -महादेवी वर्मा

पंडित बृज नारायण चकबस्त की देश भक्ति कविताएँ | Brij Narayan Chakbast ki Desh Bhakti Kavita

उन्हें ये फ़िक्र है हर दम नई तर्ज़-ए-जफ़ा क्या है - बृज नारायण चकबस्त

कभी था नाज़ ज़माने को अपने हिन्द पे भी - बृज नारायण चकबस्त

कुछ ऐसा पास-ए-ग़ैरत उठ गया इस अहद-ए-पुर-फ़न में - बृज नारायण चकबस्त

ज़बाँ को बंद करें या मुझे असीर करें - बृज नारायण चकबस्त

दिल किए तस्ख़ीर बख़्शा फ़ैज़-ए-रूहानी मुझे - बृज नारायण चकबस्त

नए झगड़े निराली काविशें ईजाद करते हैं - बृज नारायण चकबस्त

फ़ना नहीं है मुहब्बत के रंगो बू के लिए - बृज नारायण चकबस्त

मिटने वालों को वफ़ा का यह सबक याद रहे - बृज नारायण चकबस्त

ख़ाक-ए-हिंद - बृज नारायण चकबस्त

मज़हब-ए-शायराना - बृज नारायण चकबस्त

मर्सिया बाल-गंगा-धर-तिलक - बृज नारायण चकबस्त

मर्सिया गोपाल कृष्ण गोखले - बृज नारायण चकबस्त

वतन का राग - बृज नारायण चकबस्त

हुब्ब-ए-क़ौमी - बृज नारायण चकबस्त

मैथिलीशरण गुप्त की देश भक्ति कविताएँ | Maithilisharan Gupt Desh bhakti kavita

मातृभूमि -मैथिलीशरण गुप्त

भारतवर्ष -मैथिलीशरण गुप्त

भारत माता का मंदिर यह -मैथिलीशरण गुप्त

भारत का झण्डा -मैथिलीशरण गुप्त

मातृ-मूर्ति -मैथिलीशरण गुप्त

भारतवर्ष की श्रेष्ठता -मैथिलीशरण गुप्त

हमारा उद्भव -मैथिलीशरण गुप्त

स्वराज्य -मैथिलीशरण गुप्त

हरिवंशराय बच्चन की देश भक्ति कविताएँ | Harivansh Rai Bachchan Desh bhakti kavita

स्वतन्त्रता दिवस -हरिवंशराय बच्चन

आज़ाद हिन्दुस्तान का आह्वान -हरिवंशराय बच्चन

शहीदों की याद में -हरिवंशराय बच्चन

शहीद की माँ -हरिवंशराय बच्चन

राष्ट्र ध्वजा -हरिवंशराय बच्चन

भारतमाता मन्दिर -हरिवंशराय बच्चन

नौ अगस्त, '४२ -हरिवंशराय बच्चन

क्रांति दीप -हरिवंशराय बच्चन

कवि का दीपक -हरिवंशराय बच्चन

घायल हिन्दुस्तान -हरिवंशराय बच्चन

आज़ादी का नया वर्ष -हरिवंशराय बच्चन

देश के सैनिकों से -हरिवंशराय बच्चन

देश के युवकों से -हरिवंशराय बच्चन

आज़ादी के बाद -हरिवंशराय बच्चन

देश-विभाजन-१ -हरिवंशराय बच्चन

क्रांति दीप -हरिवंशराय बच्चन

देश-विभाजन-३ -हरिवंशराय बच्चन

देश के नेताओं से -हरिवंशराय बच्चन

देश के नाविकों से -हरिवंशराय बच्चन

आजादी की पहली वर्षगाँठ -हरिवंशराय बच्चन

आजादी की दूसरी वर्षगाँठ -हरिवंशराय बच्चन

गणतंत्र दिवस -हरिवंशराय बच्चन

गणतन्त्र पताका -हरिवंशराय बच्चन

झण्डा -हरिवंशराय बच्चन

बन्दी -हरिवंशराय बच्चन

बन्दी मित्र -हरिवंशराय बच्चन

रामधारी सिंह दिनकर की देश भक्ति कविताएँ | Ramdhari Singh dinkar Desh bhakti kavita

कलम, आज उनकी जय बोल-शहीद-स्तवन -रामधारी सिंह दिनकर

किसको नमन करूँ मैं भारत? -रामधारी सिंह दिनकर

जनतन्त्र का जन्म -रामधारी सिंह दिनकर

जियो जियो जय हिन्दुस्तान -रामधारी सिंह दिनकर

भारत/जब आग लगे -रामधारी सिंह दिनकर

सिपाही -रामधारी सिंह दिनकर

हे मेरे स्वदेश! -रामधारी सिंह दिनकर

कवि प्रदीप की देश भक्ति कविताएँ | Kavi Pradeep ki Desh Bhakti Kavita

ऐ मेरे वतन के लोगों - कवि प्रदीप

हम लाये हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के - कवि प्रदीप

आज हिमालय की चोटी से फिर हम ने ललकरा है - कवि प्रदीप

आओ बच्चो तुम्हें दिखाएं झाँकी हिंदुस्तान क - कवि प्रदीप

चल चल रे नौजवान - कवि प्रदीप

बिगुल बज रहा आज़ादी का - कवि प्रदीप

जन्मभूमि माँ - कवि प्रदीप

सुनो सुनो देशके हिन्दू - मुस्लमान - कवि प्रदीप

प्रेम धवन की देश भक्ति गीत | Prem Dhawan ke Desh Bhakti Geet

ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे बिछड़े चमन - प्रेम धवन

ऐ वतन ऐ वतन हमको तेरी क़सम - प्रेम धवन

मेरा रंग दे बसंती चोला - प्रेम धवन

छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी - प्रेम धवन

जयशंकर प्रसाद की देश भक्ति कविताएँ | Jaishankar Prasad Desh bhakti kavita

अरुण यह मधुमय देश हमारा -जयशंकर प्रसाद

हिमाद्रि तुंग श्रृंग से प्रबुद्ध शुद्ध भारती -जयशंकर प्रसाद

भारत महिमा -जयशंकर प्रसाद

जाँ निसार अख़्तर की देश भक्ति कविताएँ | Jaan Nisar Akhtar Desh bhakti kavita

आवाज़ दो हम एक हैं - जाँ निसार अख़्तर

मैं उनके गीत गाता हूं - जाँ निसार अख़्तर

अशोक गौड़ 'अकेला'की देश भक्ति कविताएँ | Ashok Gaur Desh bhakti kavita

आखिर मैं कब तक सोऊंगा -अशोक गौड़ 'अकेला'

आँसू देश प्रेम के -अशोक गौड़ 'अकेला'

धर्म और कौमी एकता -अशोक गौड़ 'अकेला'

जागेंगे और जगायेंगे -अशोक गौड़ 'अकेला'

करे सोई है ज्ञानी -अशोक गौड़ 'अकेला'

चेतना -अशोक गौड़ 'अकेला'

बटा हुआ दिल -अशोक गौड़ 'अकेला'

रंग लायेगी कभी तो -अशोक गौड़ 'अकेला'

तिरंगे के रंग सा कफन जिसका -अशोक गौड़ 'अकेला'

आंचल भिगोती जा रही -अशोक गौड़ 'अकेला'

शहीदों से -अशोक गौड़ 'अकेला'

कर देंगे भष्मसात ! -अशोक गौड़ 'अकेला'

उदय हो रहा नव प्रभात -अशोक गौड़ 'अकेला'

नया इन्कलाब लाता है। -अशोक गौड़ 'अकेला'

बीसवीं सदी का रावण -अशोक गौड़ 'अकेला'

किसने उड़ाया धुन्ध -अशोक गौड़ 'अकेला'

इंसान हम बनें सब -अशोक गौड़ 'अकेला'

ढूढ़ना है आत्म दर्शन ! -अशोक गौड़ 'अकेला'

दोस्ताना हाथ चाहिये -अशोक गौड़ 'अकेला'

सुभद्राकुमारी चौहान की देश भक्ति कविताएँ | Subhadra Kumari Chauhan Desh bhakti kavita

जलियाँवाला बाग में बसंत - सुभद्रा कुमारी चौहान

ठुकरा दो या प्यार करो - सुभद्रा कुमारी चौहान

मेरा नया बचपन - सुभद्रा कुमारी चौहान

झांसी की रानी - सुभद्रा कुमारी चौहान

झाँसी की रानी की समाधि पर - सुभद्रा कुमारी चौहान

वीरों का कैसा हो वसंत - सुभद्रा कुमारी चौहान

स्वदेश के प्रति - सुभद्रा कुमारी चौहान

अटल बिहारी वाजपेयी की देश-भक्ति कविताएँ | Atal Bihari Vajpayee Desh Bhakti kavita

उनकी याद करें -अटल बिहारी वाजपेयी

स्वतंत्रता दिवस की पुकार -अटल बिहारी वाजपेयी

गगन मे लहरता है भगवा हमारा -अटल बिहारी वाजपेयी

अमर है गणतंत्र -अटल बिहारी वाजपेयी

मातृपूजा प्रतिबंधित -अटल बिहारी वाजपेयी

कण्ठ-कण्ठ में एक राग है -अटल बिहारी वाजपेयी

आए जिस-जिस की हिम्मत हो -अटल बिहारी वाजपेयी

जंग न होने देंगे -अटल बिहारी वाजपेयी

गुलज़ार की देश भक्ति कविताएँ | Gulzar Desh bhakti kavita

जय हिन्द हिन्द, जय हिन्द हिन्द -गुलज़ार

हिंदुस्तान में दो दो हिंदुस्तान दिखाई देते हैं -गुलज़ार

इंदीवर - देश-भक्ति कविताएँ | Indeevar Desh bhakti kavita

मेरे देश की धरती -इंदीवर

है प्रीत जहाँ की रीत सदा -इंदीवर

दुल्हन चली, ओ पहन चली, तीन रंग की चोली -इंदीवर

कुमार विश्वास की देश भक्ति कविताएँ | Kumar Vishwas Desh bhakti kavita

होठों पर गंगा हो, हाथों में तिरंगा हो - कुमार विश्वास

है नमन उनको -कुमार विश्वास

जावेद अख़्तर की देश भक्ति कविताएँ | Javed Akhtar Desh bhakti kavita

पन्द्रह अगस्त - जावेद अख़्तर

दुष्यन्त कुमार की देश भक्ति कविताएँ | Dushyant Kumar Desh bhakti kavita

देश-प्रेम - दुष्यन्त कुमार

देश - दुष्यन्त कुमार

गांधीजी के जन्मदिन पर - दुष्यन्त कुमार

सुब्रह्मण्य भारती की देश भक्ति कविताएँ | Subramania Bharati

यह है भारत देश हमारा-सुब्रह्मण्य भारती

जय भारत-सुब्रह्मण्य भारती

सब शत्रुभाव मिट जाएँगे-सुब्रह्मण्य भारती

चलो गाएँ हम-सुब्रह्मण्य भारती

वन्देमातरम-सुब्रह्मण्य भारती

रे विदेशियो! भेद न हममें‌-सुब्रह्मण्य भारती

निर्भय-सुब्रह्मण्य भारती

वंदे मातरम्‌-सुब्रह्मण्य भारती

नमन करें इस देश को-सुब्रह्मण्य भारती

भारत सर्वोत्कृष्ट देश है-सुब्रह्मण्य भारती

सुमित्रानंदन पंत की देश भक्ति कविताएँ | Sumitranandan Pant

१५ अगस्त १९४७-सुमित्रानंदन पंत

जन्म भूमि-सुमित्रानंदन पंत

लोक सत्य-सुमित्रानंदन पंत

मुझे असत् से-सुमित्रानंदन पंत

भारतमाता-सुमित्रानंदन पंत

सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला की देश भक्ति कविताएँ | Suryakant Tripathi Nirala Desh bhakti kavita

ख़ून की होली जो खेली-सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला

दिल्ली-सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला

कहाँ देश है-सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला

भारती वन्दना-सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला

पतित पावनी, गंगे-सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला

शैलेन्द्र की देश भक्ति कविताएँ | Shailendra ki Desh Bhakti Kavita

होठों पे सच्चाई रहती है - शैलेन्द्र

ये चमन हमारा अपना है - शैलेन्द्र

देश की धरती ने ललकारा - शैलेन्द्र

मत रो माता, लाल तेरे बहुतेरे - शैलेन्द्र

आ अब लौट चलें - शैलेन्द्र

मेरा जूता है जापानी - शैलेन्द्र

मेरा नाम राजू घराना अनाम - शैलेन्द्र

सोहन लाल द्विवेदी की देश भक्ति कविताएँ | Sohan Lal Dwivedi Desh bhakti kavita

हल्दीघाटी - सोहन लाल द्विवेदी

राणा प्रताप के प्रति -सोहन लाल द्विवेदी

आज़ादी के फूलों परह- सोहन लाल द्विवेदी

हथकड़ियाँ !-सोहन लाल द्विवेदी

मुक्ता-सोहन लाल द्विवेदी

बढ़े चलो , बढ़े चलो-सोहन लाल द्विवेदी

जय राष्ट्रीय निशान!-सोहन लाल द्विवेदी

ध्वजा-गीत-सोहन लाल द्विवेदी

यह भारतवर्ष हमारा है!-सोहन लाल द्विवेदी

मातृभूमि-सोहन लाल द्विवेदी

भारत-सोहन लाल द्विवेदी

वंदना-सोहन लाल द्विवेदी

तुम्हें नमन-सोहन लाल द्विवेदी

श्रीकृष्ण सरल की देश भक्ति कविताएँ | Shri Krishna Saral ki Desh Bhakti Kavita

भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के बलिदान - श्रीकृष्ण सरल

धरा की माटी बहुत महान - श्रीकृष्ण सरल

जियो या मरो, वीर की तरह - श्रीकृष्ण सरल

देश के सपने फूलें फलें - श्रीकृष्ण सरल

शहीद - श्रीकृष्ण सरल

देश से प्यार - श्रीकृष्ण सरल

सैनिक - श्रीकृष्ण सरल

अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध' की देश भक्ति कविताएँ | Ayodhya Singh Upadhyay

जन्‍मभूमि - अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'

क्रान्ति - अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'

गौरव गान - अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'

श्रीधर पाठक की देश भक्ति कविताएँ | Shridhar Pathak Desh bhakti kavita

स्मरणीय भाव - श्रीधर पाठक

भारत-गगन - श्रीधर पाठक

सुंदर भारत - श्रीधर पाठक

देश-गीत - श्रीधर पाठक

स्वराज-स्वागत-1 - श्रीधर पाठक

स्वदेश-विज्ञान - श्रीधर पाठक

निज स्वदेश ही - श्रीधर पाठक

बलि-बलि जाऊँ - श्रीधर पाठक

हिंद-महिमा - श्रीधर पाठक

भारत-श्री - श्रीधर पाठक

भारत-धरनि - श्रीधर पाठक

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही' की देश भक्ति कविताएँ | Gayaprasad Shukla 'Sanehi' Desh bhakti kavita

असहयोग कर दो - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

परतंत्रता की गाँठ - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

पावन प्रतिज्ञा - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

भारत संतान - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

राष्ट्रीयता - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

वह हृदय नहीं है पत्थर है - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

शैदाए वतन - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

सुभाषचन्द्र - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

हमारा प्यारा हिन्दुस्तान - गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

गिरिजा कुमार माथुर की देश भक्ति कविताएँ | Girija Kumar Mathur Desh bhakti kavita

हम होंगे कामयाब - गिरिजा कुमार माथुर

पन्द्रह अगस्त (आज जीत की रात) - गिरिजा कुमार माथुर

माखनलाल चतुर्वेदी की देश भक्ति कविताएँ | Makhanlal Chaturvedi Desh bhakti kavita

पुष्प की अभिलाषा - माखनलाल चतुर्वेदी

प्यारे भारत देश - माखनलाल चतुर्वेदी

राष्ट्रीय झंडे की भेंट - माखनलाल चतुर्वेदी

अमर राष्ट्र - माखनलाल चतुर्वेदी

लाल टीका - माखनलाल चतुर्वेदी

कैदी और कोकिला - माखनलाल चतुर्वेदी

सिपाही - माखनलाल चतुर्वेदी

कैदी की भावना - माखनलाल चतुर्वेदी

जबलपुर जेल से छूटते समय - माखनलाल चतुर्वेदी

जलियाँ वाला की बेदी - माखनलाल चतुर्वेदी

बलि-पन्थी से - माखनलाल चतुर्वेदी

यह अमर निशानी किसकी है? - माखनलाल चतुर्वेदी

सेनानी से - माखनलाल चतुर्वेदी

सेनानी से - माखनलाल चतुर्वेदी

सुव्रत शुक्ल की देश भक्ति कविताएँ | Suvrat Shukla Desh Bhakti Kavita

वंदे मातरम् - सुव्रत शुक्ल

त्रिलोक सिंह ठकुरेला की देश-भक्ति कविताएँ | Trilok Singh Thakurela Desh bhakti kavita

देश - त्रिलोक सिंह ठकुरेला

देश हमारा - त्रिलोक सिंह ठकुरेला

रोशनी की ही विजय हो - त्रिलोक सिंह ठकुरेला

जय हिंदी, जय भारती - त्रिलोक सिंह ठकुरेला

आओ, मिलकर दीप जलाएँ - त्रिलोक सिंह ठकुरेला

तिरंगा - त्रिलोक सिंह ठकुरेला

हम हिमालय - त्रिलोक सिंह ठकुरेला

गोपालदास नीरज की देश भक्ति कविताएँ | Gopal Das Neeraj Desh bhakti kavita

मन आज़ाद नहीं है - Gopal Das Neeraj

डॉ. अलामा मुहम्मद इकबाल की देश भक्ति कविताएँ | Dr Muhammad Iqbal Desh bhakti kavita

तराना-ए-हिन्द- सारे जहां से अच्छा हिन्दुसतां हमारा - Gopal Das Neeraj

प्रसिद्ध बॉलीवुड देश भक्ति गीत | Famous Bollywood Desh bhakti Geet

ऐ मेरे वतन के लोगों - लता मंगेशकर

सारे जहाँ से अच्छा - लता मंगेशकर

वन्दे मातरम् - लता मंगेशकर

जहाँ डाल-डाल पर सोने की चिड़िया - मोहम्मद रफ़ी

ये देश है वीर जवानों का - मोहम्मद रफ़ी

दिल दिया है जान भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए - मुहम्मद अज़ीज़, कविता कृष्णमूर्ति

छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी - मुकेश

कर चले हम फ़िदा जान-ओ-तन साथियों - मोहम्मद रफ़ी

ऐ मेरे वतन के लोगों ज़रा आँख में भर लो पानी - लता मंगेशकर

है प्रीत जहाँ की रीत सदा - महेंद्र कपूर

ऐ मेरे प्यारे वतन ऐ मेरे बिछड़े चमन - मन्ना डे

संदेशे आते हैं हमें तड़पाते हैं - रूप कुमार राठोड़,सोनू निगम

मेरा रंग दे बसंती चोला - मुकेश,महेंद्र कपूर,राजेंद्र मेहता

नन्हां मुन्ना राही हूँ - शांति माथुर

अपनी आज़ादी को हम हरगीज मिटा सकते नहीं - मोहम्मद रफ़ी

आई लव माय इंडिया - हरिहरन

जिस देश में गंगा बहती है - मुकेश

ऐसा देस है मेरा - लता मंगेशकर,उदित नारायण,गुरदास,पृथा मजूमदार

दे दी हमें आजादी - लता मंगेशकर

भारत हमको जान से प्यारा है - हरिहरन

मेरे देश की धरती - महेंद्र कपूर

मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन - आदित्य नारायण, कुमार सानू


Tag : Hindi Kavita on Desh Bhakti, Desh Bhakti Hindi Kavita, Hindi Kavita, Desh Bhakti Kavita, Kavita in Hindi,Desh Bhakti Geet,स्वतंत्रता दिवस पर कविता व गीत, गणतंत्र दिवस पर कविता व गीत,Best Desh Bhakti Kavita,Independence day Songs,Republic Day Songs, bollywood desh bhakti song, Famous Desh bhakti Geet, desh bhakti kavita,desh bhakti kavita in hindi,hindi desh bhakti kavita, heart touching desh bhakti poem in hindi,easy desh bhakti poem in hindi, desh bhakti poem in hindi,deshbhakti poem in hindi,deshbhakti song deshbhakti song in hindi,deshbhakti geet


Jane Mane Kavi (medium-bt) Hindi Kavita (medium-bt)

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads