Type Here to Get Search Results !

Ads

Nida Fazli | निदा फ़ाज़ली

nida-fazli


Nida Fazli | निदा फ़ाज़ली या मुक़्तदा हसन निदा फ़ाज़ली  (उर्दू: ندا فاضلی‎) हिन्दी और उर्दू के मशहूर शायर थे इनका निधन 07 फ़रवरी 2016 को मुम्बई में हो गया। दिल्ली में पिता मुर्तुज़ा हसन और माँ जमील फ़ातिमा के घर तीसरी संतान नें जन्म लिया जिसका नाम बड़े भाई के नाम के क़ाफ़िये से मिला कर मुक़्तदा हसन रखा गया। पिता स्वयं भी शायर थे। इन्होने अपना बाल्यकाल ग्वालियर में गुजारा जहाँ पर उनकी शिक्षा हुई। 

वो छोटी उम्र से ही लिखने लगे थे। निदा फ़ाज़ली इनका लेखन का नाम है। निदा का अर्थ है स्वर/ आवाज़/ Voice। फ़ाज़िला क़श्मीर के एक इलाके का नाम है जहाँ से निदा के पुरखे आकर दिल्ली में बस गए थे, इसलिए उन्होंने अपने उपनाम में फ़ाज़ली जोड़ा। उन्होंने कबीरदास, तुलसीदास, बाबा फ़रीद इत्यादि कई अन्य कवियों को भी पढ़ा और उन्होंने पाया कि इन कवियों की सीधी-सादी, बिना लाग लपेट की, दो-टूक भाषा में लिखी रचनाएँ अधिक प्रभावकारी है जैसे सूरदास की ही उधो, मन न भए दस बीस। एक हुतो सो गयौ स्याम संग, को अराधै ते ईस॥, न कि मिर्ज़ा ग़ालिब की एब्सट्रैक्ट भाषा में "दिल-ए-नादां तुझे हुआ क्या है?"। तब से वैसी ही सरल भाषा सदैव के लिए उनकी अपनी शैली बन गई।

1964 में निदा काम की तलाश में बम्बई (मुंबई) चले गए और धर्मयुग, ब्लिट्ज़ (Blitz) जैसी पत्रिकाओं, समाचार पत्रों के लिए लिखने लगे। उनकी सरल और प्रभावकारी लेखनशैली ने शीघ्र ही उन्हें सम्मान और लोकप्रियता दिलाई। उर्दू कविता का उनका पहला संग्रह 1969 में छपा।

निदा फ़ाज़ली की रचनाएँ | Nida Fazli poetry

आँखों भर आकाश : Nida Fazli

मौसम आते जाते हैं : Nida Fazli

खोया हुआ सा कुछ : Nida Fazli

चुनिंदा ग़ज़लें : Nida Fazli

चुनिंदा नज़्में : Nida Fazli

दोहे : Nida Fazli

माहिये : Nida Fazli

Nida Fazli ki Kavita : Aankhon Bhar Akash

यह बात तो ग़लत है - Nida Fazli

जब भी दिल ने दिल को सदा दी - Nida Fazli

सोचने बैठे जब भी उसको - Nida Fazli

ऐसा नहीं होता - Nida Fazli

सिखा देती है चलना - Nida Fazli

मौत की नहर - Nida Fazli

देखा गया हूँ - Nida Fazli

बूढ़ा मलबा - Nida Fazli

बैसाखियाँ - Nida Fazli

एक लुटी हुई बस्ती की कहानी - Nida Fazli

मन बैरागी - Nida Fazli

फ़क़त चन्द लम्हे - Nida Fazli

किताबघर की मौत - Nida Fazli

खेल - Nida Fazli

दो खिड़कियाँ - Nida Fazli

एक तस्वीर - Nida Fazli

तुमसे मिली नहीं है दुनिया - Nida Fazli

दो सोचें - Nida Fazli

वक़्त से पहले - Nida Fazli

इतनी पी जाओ - Nida Fazli

बेख़बरी - Nida Fazli

क़ौमी एकता - Nida Fazli

एक ही ग़म - Nida Fazli

एक बात - Nida Fazli

बस का सफ़र - Nida Fazli

एक मुलाकात - Nida Fazli

भोर - Nida Fazli

सर्दी - Nida Fazli

पहला पानी - Nida Fazli

मोरनाच - Nida Fazli

एक दिन - Nida Fazli

पैदाइश - Nida Fazli

फुरसत - Nida Fazli

सलीक़ा - Nida Fazli

सहर - Nida Fazli

दोपहर - Nida Fazli

म्यूज़ियम - Nida Fazli

नक़ाबें - Nida Fazli

संसार - Nida Fazli

जंग - Nida Fazli

कितने दिन बाद - Nida Fazli

रुख़्सत होते वक़्त - Nida Fazli

जब भी घर से बाहर जाओ - Nida Fazli

आत्मकथा - Nida Fazli

चौथा आदमी - Nida Fazli

मुहब्बत - Nida Fazli

हैरत है - Nida Fazli

खुदा ख़ामोश है - Nida Fazli

लफ्ज़ों का पुल - Nida Fazli

जो हुआ वो हुआ किसलिए - Nida Fazli

दर्द पुराना है - Nida Fazli

जब वह आते हैं - Nida Fazli

तुझ बिन मुझको - Nida Fazli

कोई नहीं है आने वाला - Nida Fazli

बहुत मैला है ये सूरज - Nida Fazli

रस्ते में नोकीली घाम - Nida Fazli

जीवन शोर भरा सन्नाटा - Nida Fazli

Mausam Aate Jaate Hain Nida Fazli

कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता - Nida Fazli

इन्सान में हैवान यहाँ भी है वहाँ भी - Nida Fazli

बदला न अपने आपको जो थे वही रहे - Nida Fazli

सफ़र में धूप तो होगी जो चल सको तो चलो- Nida Fazli

हम हैं कुछ अपने लिए कुछ हैं ज़माने के लिए - Nida Fazli

कहीं-कहीं से हर चेहरा तुम जैसा लगता है - Nida Fazli

बेनाम-सा ये दर्द ठहर क्यों नहीं जाता - Nida Fazli

हर तरफ़ हर जगह बेशुमार आदमी - Nida Fazli

मन बैरागी, तन अनुरागी, क़दम-क़दम दुश्वारी है - Nida Fazli

अपनी मर्ज़ी से कहाँ अपने सफ़र के हम हैं - Nida Fazli

दिल में न हो ज़ुरअत तो मोहब्बत नहीं मिलती - Nida Fazli

देखा हुआ सा कुछ है तो सोचा हुआ सा कुछ - Nida Fazli

अपना गम लेके कहीं और न जाया जाए - Nida Fazli

जीवन शोर भरा सन्नाटा - Nida Fazli

Khoya Hua Sa Kuchh Nida Fazli

देर से - Nida Fazli

हम्द - Nida Fazli

कहीं-कहीं से - Nida Fazli

गरज-बरस - Nida Fazli

रौशनी के फ़रिश्ते - Nida Fazli

सफ़र को जब भी - Nida Fazli

मैं जीवन हूँ - Nida Fazli

दिन सलीके से उगा - Nida Fazli

चरवाहा और भेड़ें - Nida Fazli

उठके कपड़े बदल - Nida Fazli

यहाँ भी है वहाँ भी - Nida Fazli

छोटा आदमी - Nida Fazli

ये ज़िंदगी - Nida Fazli

मौसम आते जाते हैं - Nida Fazli

दिल में न हो जुर्रत - Nida Fazli

अपनी मर्ज़ी से कहाँ - Nida Fazli

धूप में निकलो - Nida Fazli

देखा हुआ सा कुछ - Nida Fazli

मैं ख़ुदा बनके - Nida Fazli

एक लुटी हुई बस्ती की कहानी - Nida Fazli

जो थे वही रहे - Nida Fazli

नयी-नयी आँखें - Nida Fazli

दोहे - Nida Fazli

सपना झरना नींद का - Nida Fazli

सातों दिन भगवान के, क्या मंगल क्या पीर - Nida Fazli

दस्तकें - Nida Fazli

मुँह की बात - Nida Fazli

जाने वालों से - Nida Fazli

छोटी-सी हंसी - Nida Fazli

सपना ज़िंदा है - Nida Fazli

समझौता - Nida Fazli

कोई अकेला कहाँ है - Nida Fazli

जो खो जाता है मिलकर ज़िन्दगी में - Nida Fazli

जब भी किसी ने ख़ुद को सदा दी - Nida Fazli

मिलजुल के बैठने की - Nida Fazli

एक जवान याद - Nida Fazli

हम हैं कुछ अपने लिए - Nida Fazli

चांद से फूल से - Nida Fazli

ख़ुदा ही जिम्मेदार है - Nida Fazli

आख़री सच - Nida Fazli

एक ख़त - Nida Fazli

एक राजनेता के नाम - Nida Fazli

जो एक दर्द है सांसों में - Nida Fazli

शिकायत - Nida Fazli

मुझी में ख़ुदा था - Nida Fazli

मुझी में ख़ुदा था - Nida Fazli

मेरा घर - Nida Fazli

ये ख़ून मेरा नहीं है - Nida Fazli

याद आता है सुना था पहले - Nida Fazli

एक मुस्कुराहट - Nida Fazli

जानता नहीं कोई - Nida Fazli

हमेशा यूँ ही होता है - Nida Fazli

Collection of Nida Fazli Shayari and Ghazal

अच्छी नहीं ये ख़ामुशी शिकवा करो गिला करो - Nida Fazli

अपना ग़म लेके कहीं और न जाया जाये - Nida Fazli

अपनी मर्ज़ी से कहाँ अपने सफ़र के हम हैं - Nida Fazli

अब खुशी है न कोई ग़म रुलाने वाला - Nida Fazli

आएगा कोई चल के ख़िज़ाँ से बहार में - Nida Fazli

आज ज़रा फ़ुर्सत पाई थी आज उसे फिर याद किया - Nida Fazli

आनी जानी हर मोहब्बत है चलो यूँ ही सही - Nida Fazli

इंसान हैं हैवान यहाँ भी है वहाँ भी - Nida Fazli

उठ के कपड़े बदल घर से बाहर निकल जो हुआ सो हुआ - Nida Fazli

उस के दुश्मन हैं बहुत आदमी अच्छा होगा - Nida Fazli

उस को खो देने का एहसास तो कम बाक़ी है - Nida Fazli

एक ही धरती हम सब का घर जितना तेरा उतना मेरा - Nida Fazli

कच्चे बख़िये की तरह रिश्ते उधड़ जाते हैं - Nida Fazli

कठ-पुतली है या जीवन है जीते जाओ सोचो मत - Nida Fazli

कभी कभी यूँ भी हम ने अपने जी को बहलाया है - Nida Fazli

कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता - Nida Fazli

कभी बादल, कभी कश्ती, कभी गर्दाब लगे - Nida Fazli

कहीं छत थी दीवार-ओ-दर थे कहीं - Nida Fazli

काला अम्बर पीली धरती या अल्लाह - Nida Fazli

किसी भी शहर में जाओ कहीं क़याम करो - Nida Fazli

किसी से ख़ुश है किसी से ख़फ़ा ख़फ़ा सा है - Nida Fazli

कुछ तबीअ'त ही मिली थी ऐसी - Nida Fazli

कुछ दिनों तो शहर सारा अजनबी सा हो गया - Nida Fazli

कुछ भी बचा न कहने को हर बात हो गई - Nida Fazli

कोई किसी की तरफ़ है कोई किसी की तरफ़ - Nida Fazli

कोई किसी से ख़ुश हो और वो भी बारहा हो - Nida Fazli

कोई नहीं है आने वाला फिर भी कोई आने को है - Nida Fazli

कोई हिन्दू कोई मुस्लिम कोई ईसाई है - Nida Fazli

कोशिश के बावजूद ये इल्ज़ाम रह गया - Nida Fazli

गरज-बरस प्यासी धरती पर फिर पानी दे मौला - Nida Fazli

गिरजा में मंदिरों में अज़ानों में बट गया - Nida Fazli

घर से निकले तो हो सोचा भी किधर जाओगे - Nida Fazli

चाँद से फूल से या मेरी ज़बाँ से सुनिए - Nida Fazli

चाहतें मौसमी परिंदे हैं रुत बदलते ही लौट जाते हैं - Nida Fazli

जब किसी से कोई गिला रखना - Nida Fazli

जब भी किसी ने ख़ुद को सदा दी - Nida Fazli

जब से क़रीब हो के चले ज़िंदगी से हम - Nida Fazli

जहाँ न तेरी महक हो उधर न जाऊँ मैं - Nida Fazli

जाने वालों से राब्ता रखना - Nida Fazli

जितनी बुरी कही जाती है उतनी बुरी नहीं है दुनिया - Nida Fazli

जिसे देखते ही ख़ुमारी लगे - Nida Fazli

जो भला है उसे बुरा मत कर - Nida Fazli

जो हो इक बार वो हर बार हो ऐसा नहीं होता - Nida Fazli

ज़मीं दी है तो थोड़ा सा आसमाँ भी दे - Nida Fazli

ज़िहानतों को कहाँ कर्ब से फ़रार मिला - Nida Fazli

ठहरे जो कहीं आँख तमाशा नज़र आए - Nida Fazli

Jane Mane Kavi (medium-bt) Hindi Kavita (medium-bt)

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads