-->

नज़ीर अकबराबादी Nazeer Akbarabadi

nazeer-aakbarabadi

नज़ीर अकबराबादी 
Nazeer Akbarabadi 
नज़ीर अकबराबादी (१७३५-१८३०), जिन का असली नाम वली मुहम्मद था, को उर्दू 'नज़्म का पिता' करके जाना जाता है । वह आम लोगों के कवि थे । उन्होंने आम जीवन, ऋतुयों, त्योहारों, फलों, सब्जियों आदि विषयों पर लिखा । वह धर्म-निरपेक्षता की ज्वलंत उदाहरण हैं । कहा जाता है कि उन्होंने लगभग दो लाख रचनायें लिखीं । परन्तु उनकी छह हज़ार के करीब रचनायें मिलती हैं और इन में से 6०० के करीब ग़ज़लें हैं।


नज़ीर अकबराबादी की रचनाएँ

नज़्में (कविताएं)

सूफ़ी-रंग

धार्मिक-रंग

मनुष्य जीवन के रंग

ग़ज़लें

रुबाइयाँ

दोहे

त्यौहार ऋतुएँ मौसम कविताएँ

मेले, खेल-तमाशे

नारी श्रृंगार

श्री कृष्ण पर कविताएं

पशु-पक्षियों पर कविताएं

फलों-सब्जियों खानपान पर कविताएं

विविध कविताएं

नगर भवनों पर कविताएं

किस्सा लैला मजनूँ

SeeLidComment

लेबल

कविता (295) कहानी संग्रह (29) खड़ी बोली (4) ग़ज़लें (24) गीत (8) गीत बन्ना-बन्नी (2) छायावादी (1) छायावादी रचनाकार (6) जाने माने कवि (35) दीवाली पर कविताएँ (2) देश-भक्ति कविताएँ (17) दोहे (17) धार्मिक कविता (2) नाटक (3) नारी श्रृंगार पर कविताएं (1) पद (5) पशु-पक्षियों पर कविताएं (1) पहेलियाँ (1) पुस्तक (77) पोथी (2) फलों-सब्जियों पर कविताएं (1) बसन्त बहार पर कविताएँ (1) बाल कविताएँ (2) ब्रज भाषा रचनाकार (1) भक्तिकालीन रचनाकार (1) भजन (1) मनुष्य जीवन पर कविताएँ (1) मेले-खेल-तमाशे पर कविताएं (1) मौसम पर कविताएं (1) रचनाकार (31) राजस्थानी लोक गीत (2) लोक गीत सोहर अवधी (1) लोक गीत सोहर भोजपुरी (1) लोकगीत कजरी कजली (3) लोकगीत सोहर ब्रज (1) शायर (7) शेर (1) श्री कृष्ण पर कविताएं (78) श्लोक (1) संस्मरण (3) सावन-गीत (1) सूफ़ी-रंग (6) सोहर लोक गीत (3) हिन्दी लोक गीत (18) होली पर कविताएँ (3) Devotional (1) Good Morning Message (3) Kahani (42) Love Shayari (3) Novel (88) rose day (1) Sad Shayari (1) Shayari (1) Whatsapp DP Status (1)