Type Here to Get Search Results !

गिरिजा कुमार माथुर Girija Kumar Mathur

Girija-Kumar-Mathur


गिरिजा कुमार माथुर 
Girija Kumar Mathur 

गिरिजाकुमार माथुर का जन्म २२ अगस्त 1919 ग्वालियर जिले के अशोक नगर कस्बे में हुआ। वे कवि, नाटककार और समालोचक के रूप में जाने जाते हैं। उनके पिता देवीचरण माथुर अध्यापक थे तथा साहित्य एवं संगीत के शौकीन थे। वे कविता भी लिखा करते थे। माता लक्ष्मीदेवी भी शिक्षित थीं। उनकी प्रारम्भिक शिक्षा घर पर ही हुई। १९४१ में उन्होंने लखनऊ विश्वविद्यालय में एम.ए. किया तथा वकालत की परीक्षा भी पास की। सन १९४० में गिरिजा कुमार माथुर का विवाह कवयित्री शकुन्त माथुर से हुआ।

वे विद्रोही काव्य परम्परा के रचनाकार माखनलाल चतुर्वेदी, बालकृष्ण शर्मा नवीन आदि की रचनाओं से अत्यधिक प्रभावित हुए। उनके द्वारा रचित तार सप्तक, मंदार, मंजीर, नाश और निर्माण, धूप के धान, शिलापंख चमकीले आदि काव्य-संग्रह तथा खंड काव्य पृथ्वीकल्प प्रकाशित हुए हैं। उनका लिखा गीत "हम होंगे कामयाब" समूह गान के रूप में अत्यंत लोकप्रिय है।१९९१ में "मै वक्त के सामने" के लिए हिंदी का साहित्य अकादमी पुरस्कार तथा १९९३ में बिरला फ़ाउंडेशन द्वारा व्यास सम्मान प्रदान किया गया।
तार सप्तक - गिरिजा कुमार माथुर
आज हैं केसर रंग रंगे वन - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
रुक कर जाती हुई रात - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
चूड़ी का टुकड़ा - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
रेडियम की छाया - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
कुतुब के खँडहर - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
पानी भरे हुए बादल - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
क्वाँर की दुपहरी - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
भीगा दिन - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
एसोसिएशन - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
विजय दशमी - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
अधूरा गीत - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
बुद्धन - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
या कवि - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
दो पाटों की दुनिया - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
छाया मत छूना - तार सप्तक गिरिजा कुमार माथुर
गिरिजा कुमार माथुर - प्रसिद्ध रचनाएँ,कविताएँ
हिंदी जन की बोली है - गिरिजा कुमार माथुर
हम होंगे कामया - गिरिजा कुमार माथुर
बरसों के बाद कभी - गिरिजा कुमार माथुर
कौन थकान हरे जीवन की - गिरिजा कुमार माथुर
ढाकबनी - गिरिजा कुमार माथुर
आदमी की अनुपात - गिरिजा कुमार माथुर
दो पाटों की दुनिया - गिरिजा कुमार माथुर
पन्द्रह अगस्त- गिरिजा कुमार माथुर
नया बनने का दर्द - गिरिजा कुमार माथुर
ख़ुशबू बहुत है - गिरिजा कुमार माथुर
अनकही बात - गिरिजा कुमार माथुर
मैं कैसे आनन्‍द मनाऊँ - गिरिजा कुमार माथुर
चाँदनी की रात है - गिरिजा कुमार माथुर
विदा समय क्‍यों भरे नयन हैं - गिरिजा कुमार माथुर
भूले हुओं का गीत - गिरिजा कुमार माथुर
भटका हुआ कारवाँ - गिरिजा कुमार माथुर
इतिहास की कालहीन कसौटी - गिरिजा कुमार माथुर
मेरे सपने बहुत नहीं हैं - गिरिजा कुमार माथुर
सार्थकता - गिरिजा कुमार माथुर
अ-नया वर्ष - गिरिजा कुमार माथुर
अनबींधे मन का गीत - गिरिजा कुमार माथुर
न्यूयॉर्क की एक शाम - गिरिजा कुमार माथुर
चेहरे पर आती हैं परछाइयाँ - गिरिजा कुमार माथुर
जलते प्रश्न - गिरिजा कुमार माथुर
सूरज का पहिया - गिरिजा कुमार माथुर
थकी दुपहरी में पीपल पर - गिरिजा कुमार माथुर
व्यक्तित्व का मध्यान्तर - गिरिजा कुमार माथुर